निगाहें मिलाने को जी चाहता है Nigahen Milane ko jee chahte hai lyrics (Hindi Qawwali Song Lyrics) - Asha Bhosle

निगाहें मिलाने को जी चाहता है Nigahen Milane ko jee chahte hai lyrics (Hindi Qawwali Song Lyrics) sung by Asha Bhosle.  Enjoy the lyrics of the qawwali song "Nigahen milane ko jee chahte hai " in Hindi & English from the movie Dil Hi To Hai starring Nutan. This song is written by Sahir Ludhianvi and music composed by Roshan.

 निगाहें मिलाने को जी चाहता है Nigahen Milane ko jee chahte hai lyrics (Hindi Qawwali Song Lyrics) - Asha Bhosle

Nigahen Milane Ko Song Credits:


Movie: Dil Hi To Hai
Artist: Asha Bhosle
Music director: Roshan
Lyricist: Sahir Ludhianvi
Filmstar: Raj Kapoor, Nutan,
Director: C.L Rawal, P.L Santoshi

Nigahen Milane Ko Jee Chahta Hai Lyrics in Hindi


........ आ.........आ.........

राज की बात है, महफील में कहें, या ना कहें
बस गया है कोई इस दिल में, कहें या ना कहें
कहें या ना कहें
निगाहें मिलाने को जी चाहता है
निगाहें मिलाने को जी चाहता है

ओ.......वो.......

निगाहें मिलाने को जी चाहता है
दिल-ओ-जां लूटाने को जी चाहता है
[दिल-ओ-जां लूटाने, लूटाने को जी चाहता है]
वो तोहमत जिसे इश्क कहती है दुनियाँ 
आ ...........
वो तोहमत जिसे इश्क कहती है दुनियाँ
 कहती है दुनियाँ
वो तोहमत जिसे इश्क कहती है दुनियाँ
वो तोहमत उठाने को जी चाहता है
वो तोहमत उठाने को जी चाहता है

[वो तोहमत उठाने,  उठाने को जी चाहता है

जी चाहता है]

आ ...............

किसी के मनाने में लज्जत वो पायी
किसी के मनाने में लज्जत वो पायी
लज्जत वो पायी
किसी के मनाने में लज्जत वो पायी

के फिर रूठ जाने को जी चाहता है
के फिर रूठ जाने को जी चाहता है

[मेरा  रूठ जाने को जी चाहता है
दिल-ओ-जां लूटाने को जी चाहता है]

वो जलवा जो ओझल भी, है सामने भी
वो जलवा जो ओझल भी, है सामने भी
है सामने भी
वो जलवा जो ओझल भी, है सामने भी
वो जलवा चुराने को जी चाहता है
वो जलवा चुराने को जी चाहता है

[वो जलवा चुराने, चुराने को जी चाहता है 

जी चाहता है]

वो जलवा चुराने को जी चाहता है 

वो जलवा चुराने को जी चाहता है] 

जिस घड़ी मेरी निगाहों को तेरी दीद हुई
वो घड़ी मेरे लिए ऐश की तमहीद हुई
जब कभी मैंने, तेरा चाँद सा, चेहरा देखा
जब कभी मैंने, तेरा चाँद सा, चेहरा देखा
ईद हो या के ना हो, मेरे लिए ईद हुई

[ईद हो या के ना हो, मेरे लिए ईद हुई]
वो जलवा जो ओझल भी है सामने भी
वो जलवा चुराने को जी चाहता है

[वो जलवा चुराने को जी चाहता है
वो जलवा चुराने को जी चाहता है]

मुलाक़ात का कोई पैगाम दीजे के
छुप-छुप के आने को जी चाहता है
और आके न जाने को जी चाहता है , हो...

और आके न जाने को जी चाहता है

जी चाहता है

[निगाहें मिलाने को जी चाहता है...

निगाहें मिलाने को जी चाहता है...]
---------------------------------------------------------------

Aa........Aa.............Aa.......

Raj Ki Baat Hain Mahafeel, 
Mein Kahe, Ya Na Kahe
Bas Gaya Hain Koyee, 
Is Dil Mein, Kahe Ya Na Kahe
Kahe Ya Na Kahe
Nigahe Milne Ko Ji Chaahta Hain

Nigahe Milne Ko Ji Chaahta Hain

O.o.......

Nigahe Milne Ko Ji Chaahta Hain
Dil-O-Jaan Lutane Ko Ji Chaahta Hain

[Dil-O-Jaan Lutane , Lutane Ko Ji Chaahta Hain

 Ji Chaahta Hain]

Woh Tohmat Jise Ishq Kahtee Hain Duniya.. Aa..
Woh Tohmat Jise Ishq Kahtee Hain Duniya
Kahtee Hain Duniya
Woh Tohmat Jisse Ishq Kahtee Hain Duniya
Woh Tohmat Uthhane Ko Ji Chaahta Hain

Woh Tohmat Uthhane Ko Ji Chaahta Hain

[Woh Tohmat Uthhane, Uthhane Ko Ji Chaahta Hain

Ji Chaahta Hain]

Aa.............Aa.............

Kisi Ke Manane Mein Lajjat Woh Payee
Kisi Ke Manane Mein Lajjat Woh Payee
 Lajjat Woh Payee
Kisi Ke Manane Mein Lajjat Woh Payee

Ke Phir Ruthh Jaane Ko Ji Chaahta Hain

Ke Phir Ruthh Jaane Ko Ji Chaahta Hain

[Mera Ruthh Jaane Ko Ji Chaahta Hain

Dil-O-Jaan Lutane Ko Ji Chaahta Hain]

Woh Jalwa Jo Ojhal Bhi Hain Saamne Bhi

Woh Jalwa Jo Ojhal Bhi Hain Saamne Bhi

Hain Saamne Bhi

Woh Jalwa Jo Ojhal Bhi Hain Saamne Bhi


Woh Jalawa Churaane Ko Ji Chaahta Hain

Woh Jalawa Churaane Ko Ji Chaahta Hain

[Woh Jalawa Churaane, Churaane Ko Ji Chaahta Hain

Ji Chaahta Hain]

Woh Jalawa Churaane Ko Ji Chaahta Hain

Woh Jalawa Churaane Ko Ji Chaahta Hain


Jis Ghadi Meri Nigaahon Ko Teri Did Huyi
Woh Ghadi Mere Liye Aish Ki Tamahid Huyi
Jab Kabhi Maine Tera Chand Sa Chehra Dekha
Jab Kabhi Maine Tera Chand Sa Chehra Dekha
Id Ho Ya Ke Na Ho, Mere Liye Eid Huyi

[Id Ho Ya Ke Na Ho, Mere Liye Eid Huyi]


Woh Jalawa Jo Ojhal Bhee, Hain Saamne Bhi
Woh Jalwa Churaane Ko Ji Chaahta Hain

[Woh Jalwa Churaane Ko Ji Chaahta Hain]

Mulaqat Ka Koyi Paigham Dije Ke
 Chhup Chhup Ke Aane Ko Ji Chaahta Hain
Aur Aa Ke Na Jaane Ko Ji Chaahta  Ho..

Aa Ke Na Jaane Ko Ji Chaahta 

Ji Chaahta 

[Nigahe Milne Ko Ji Chaahta Hain

Nigahe Milne Ko Ji Chaahta Hain]


Post a Comment

0 Comments