कभी यादों में आऊं Kabhi Yaadon Me Aau Lyrics (Hindi Songs Lyrics) - Abhijit

कभी यादों में आऊं Kabhi Yaadon Me Aau Lyrics (Hindi Song Lyrics) sung by Abhijit.  Sing along and enjoy this beautiful  song "Kabhi Yaadon Me Aau" composed by Saptarishi and lyrics penned by Nusrat Badr. 

कभी यादों में आऊं  Kabhi Yaadon Me Aau Lyrics (Hindi Songs Lyrics)  - Abhijit


Kabhi Yaadon Mein Aaun Song Credits:

Singer: Abhijeet
Music: Saptarishi Lyrics: Nusrat Badr Music Label : T-Series

Kabhi Yaadon Mein Aaun Lyrics in Hindi

कभी यादों में आऊं
कभी ख्वाबों में आऊं
कभी यादों में आऊं
कभी ख्वाबों में आऊं

तेरी पलकों के साये
में आकर झिलमिलाऊं
मैं वो खुश्बू नहीं जो
हवा में खो जाऊं

हवा भी चल रही है
मगर तू ही नहीं है
फ़िज़ा रंगीन वही है
कहानी कह रही है

मुझे जितना भुलाओ
मैं उतना याद आऊं
कभी यादों में आऊं
कभी ख्वाबों में आऊं

जो तुम ना मिलती
खोता ही क्या ढूंढ लाने को
जो तुम ना मिलती
खोता ही क्या ढूंढ लाने को
जो तुम ना होती
होता ही क्या हार जाने को

मेरी अमानत थी तुम
मेरी अमानत थी तुम
मेरी मुहब्बत हो तुम
तुम्हें कैसे मैं भुलाऊं

कभी यादों में आऊं
कभी ख्वाबों में आऊं
तेरी पलकों के साये
में आकर झिलमिलाऊं

तड़प रहे हो ज़माने से मुस्कुराने को
तड़प रहे हो ज़माने से मुस्कुराने को
तरस रहे हो
ज़माने से पास आने को
तेरी धड़कनों में बसकर
तेरी धड़कनों में बसकर
तेरी सांस में रह रह कर
तुम्हें हर पल सताऊं

कभी यादों में आऊं
कभी ख्वाबों में आऊं
तेरी पलकों के साये
में आकर झिलमिलाऊं
मैं वो खुश्बू नहीं जो
हवा में खो जाऊं

------------------------------------------------------------------------------------

Kabhi Yaadon Mein Aaun Lyrics in English Version

Kabhi yaadon mein aaoon
Kabhi khwaabon mein aaoon
Kabhi yaadon mein aaoon
Kabhi khwaabon mein aaoon

Teri palkon ke saaye mein
 aakar jhilmilaoon
Main wo khushboo nahin jo
hawa mein kho jaaoon

Hawa bhi chal rahi hain
Magar tu hi nahi hai
Fiza rangeen wahii hai
Kahaani keh rahi hai

Mujhe jitna bhulao
Main utna yaad aaoon
Kabhi yaadon mein aaoon
Kabhi khwaabon mein aaoon

Jo tum na milti
Hota hi kya dhoond laane ko
Jo tum na milti
Hota hi kya dhoond laane ko
Jo tum na milti
Hota hi kya haar jaane ko
Meri amaanat thhi tum
Meri amaanat thhi tum
Meri mohabbat ho tum
Tumhein kaise main bhulaoon

Kabhi yaadon mein aaoon
Kabhi khwaabon mein aaoon
Teri palkon ke saaye
mein aakar jhilmilaoon

Tadap rahe ho
Zamaane se muskaraane ko
Tadap rahe ho
Zamaane se muskaraane ko
Taras rahe ho
Zamaane se paas aane ko
Teri dhadkanon mein baskar
Teri dhadkanon mein baskar
Teri saans mein reh reh kar
Tumhein har pal sataaoon

Kabhi yaadon mein aaoon
Kabhi khwaabon mein aaoon
Teri palkon ke saaye
 mein aakar jhilmilaoon
Main wo khushboo nahin jo
 hawa mein kho jaaoon


Post a Comment

0 Comments